जंतु ऊतक  ( Animal Tissue )

जन्तुओ के शरीर में पाए जाने वाले ऊतकों को है निम्न श्रेणियों में बाँट सकते है —
1. उपकला ऊतक ( Epithelial Tissue )
2. संयोजी ऊतक ( Connective Tissue )
3. पेशी ऊतक ( Muscle Tissue )
4. तंत्रिका ऊतक ( Nerve Tissue )

1. उपकला ऊतक ( Epithelial Tissue ) :-

ये ऊतक जंतु की बाहरी , भीतरी या स्वतंत्र सतहों पर पाए जाते है।  इसमें रुधिर कोशिकाओं का अभाव होता है , जिसके कारन इस ऊतक की कोशिकाओं का पोषण विसरण के माध्यम से लसिका द्वारा होता है।  यह शरीर के कई महत्वपूर्ण अंगो में पाया जाता है ; जैसे – त्वचा की बाह्य सतह , ह्रदय , फेफड़ा एवं वृक्क के चारो और तथा यकृत एवं जनन ग्रंथियों के दीवार आदि पर।  यह ऊतक शरीर के अन्तरंगो को चोट से बचाता है तथा नम बनाये रखता है।

2. संयोजी ऊतक ( Connective Tissue ) :- 

    

Zoology / Animal Tissue / Connective Tissue
Zoology / Animal Tissue / Connective Tissue

 

यह ऊतक शरीर के सभी अन्य ऊतकों तथा अंगो को आपस में जोड़ने का कार्य करता है।  तरल संयोजी ऊतक जैसे ( रक्त एवं लसिका ) संवहन के कार्य में सहायक होता है।  यह ऊतक शरीर के तापमान को नियंत्रित करता है तथा मृत कोशिकाओं को नष्ट करके मृत ऊतकों एवं कोशिकाओं की पूर्ति करता है।

3. पेशी ऊतक ( Muscle Tissue ) : –

    

Zoology / Animal Tissue / Muscle Tissue

 

इसे संकुचनशील ऊतक ( Contractile Tissue ) के नाम से भी जाना जाता है।  श्री के सभी पेशिया ऊतक से मिलकर बनी होती है।
पेशी ऊतक तीन प्रकार के होते है —
( A ) अरेखित  ( Unstriped )
( B ) रेखित  ( striped )
( C ) हृदयक पेशी ( Cardiac )

( A ) अरेखित  ( Unstriped ):-

यह ऊतक उन अंगो की दीवारी पर पाया जाता है , जो अनैच्छिक रूप से गति करते है ; जैसे – आहारनाल , मलाशय  , मूत्राशय , रक्त- वाहिनियों आदि।  अरेखित पेशिया उन सभी अंगो की  गतियों को नियंत्रित करती है , जो स्वयं गति करते है।

( B ) रेखित  ( striped ):- 

ये पेशिया , शरीर  उन भागो में पायी जाती है , जो इच्छानुसार गति करती है।  प्रायः इन पेशियों के एक या दोनों सिरे रूपांतरित होकर टेण्डन के रूप में अस्थियो से जुड़े होते है।

 ( C ) हृदयक पेशी ( Cardiac ) :-

ये पेशिया केवल ह्रदय की दीवारों में पायी जाती है।  ह्रदय की गति इन्ही पेशियों के कारण होती है , जो बिना रके जीवनपर्यन्त गति करती है।  संरचना की दृष्टि से रेखित पेशी ऊतक से मिलती – जुलती  है।
मानव श्री में मांसपेशियों की संख्या 639 होती है।
मानव शरीर की सबसे बड़ी मांसपेशी ग्लूटियस मैक्सिमस ( कुल्हा की मांसपेशी ) है।
मानव शरीर की सबसे छोटी मांसपेशी स्टेपीडियस है।

4.  तंत्रिका ऊतक ( Nerve Tissue ) :-

Zoology / Animal Tissue / Nerve Tissue
Zoology / Animal Tissue / Nerve Tissue

इसे चेतना ऊतक भी कहते है।  जीवो का तंत्रिका – तंत्र इन्ही ऊतकों का बना होता है।  यह दो विशिष्ट प्रकार की कोशिकाओं का बना होता है —
( A ) तंत्रिका कोशिका या न्यूरॉन्स
( B ) न्यूरोग्लिया
यह ऊतक शरीर में होने अली सभी अनैच्छिक एवं ऐच्छिक क्रियाओ को नियंत्रित करता है।  न्यूरोग्लिया कोशिकाय मस्तिष्क की  गुहा को आस्तरित करती है।

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *