घृत कुमारी या अलो वेरा / एलोवेरा , जिसे कवारगंदल , या ग्वारपाठा के नाम से भी जाना जाता है , यह एक औषधीय पौधे के रूप में विख्यात है।  इसकी उत्पत्ति संभवत : उत्तरी अफ्रीका में हुई है।  इस प्रजाति के पौधों का इस्तेमाल पहली शताब्दी ईसवी से ओषधि के रूप में किया जा रहा है।  इसका उल्लेख आयुर्वेद के प्राचीन ग्रंथो में मिलता है।  घृत कुमारी के अर्क का प्रयोग सौन्दर्य प्रसाधन , आरोग्यी या सुखदायक के रूप में प्रयोग  किया जाता है।  घृत कुमारी मधुमेह के इलाज में काफी उपयोगी हो सकता है साथ ही यह मानव रक्त में लिपिड  का स्तर काफी घटा देता है।  एलोवेरा की कई प्रजातियां पाई जाती है।  इसकी दो प्रजातियां का चिकित्सा में विशेष तौर पर प्रयोग किया जाता है। पहले समय में एलोवेरा का प्रयोग औषधीय रूप में किया जाता था।  और आज के समय में बहुत सी दवाइया और औषधीय में इसका प्रयोग किया जाता है।  एलोवेरा में कुछ ऐसे एसिड , विटामिन्स और खनिज पदार्थ होते है जो हमारे शरीर से कई बीमारिया को दूर करने में सक्षम होते है। एलोवेरा का इस्तेमाल भारत में ही नहीं बल्कि बहुत देशों में औषधीय रूप से किया जाता है।
एलोवेरा
एलोवेरा
एलोवेरा का पौधा छोटा होता है जिसके पत्ते मोटे , गूदेदार होते है और यह चारो तरफ लगे होते है।  इनके पत्ते के आगे का भाग नुकीला होता है और इसके किनारो पर हल्के कांटे होते है।  पत्तो के बीज से फूल का दंड निलकता है जिस पर पिले रंग के फूल लगे होते है।

एलोवेरा के फायदे –

एलोवेरा मुँह के छाले , कब्ज , त्वचा के पकने सहित बहुत से रोगो के उपचार के लिए अत्यंत गुणकारी ओषधि है।  यह पचने में भारी , चिकना , ठंडा और स्वाद में कड़वा होता है।

1  सिर के दर्द में फायदेमंद एलोवेरा –

घृत कुमारी के गूदे में थोड़ी मात्रा में दारू हल्दी (दारुहरिद्रा ) का चूर्ण मिला ले।  इसे गर्म करके दर्द वाले स्थान पर बांधे।  इससे वात और कफ से होने वाले सिरदर्द में लाभ होता है।

2  नेत्र रोग में फायदेमंद एलोवेरा –

घृत कुमारी का गुदा आँखों में लगाने से आँखों की लाली मिटती है , गर्मी दूर होती है।  यह विषाणु से होने वाले आँखों के सूजन में लाभप्रद होता है।

3  पेट की बीमारी में एलोवेरा का इस्तेमाल –

घृत कुमारी  के गूदे को पेट के ऊपर बांधने से पेट की गांठ बैठ जाती है।  तथा घृत कुमारी की 10 -20 ग्राम जड़ को उबाल ले , इसे छानकर इसमें भुनी हुई हींग मिलाकर पिने से पेट दर्द में आराम मिलता है।

4 बालो के लिए एलोवेरा के फायदे –

अगर आप बालो के लम्बे न होने से परेशान है तो एलोवेरा का प्रयोग जरूर करे।  एलोवेरा लेकर उसमे मेथी के बीज , तुलसी पाउडर और 2 चम्मच कैस्टर ऑयल मिला ले , इस पेस्ट को बालो में लगाकर रखे और कुछ घंटे बाद शेम्पू कर ले।  ऐसा करने से बालो की ग्रोथ बढ़ती है और साथ ही बालो में डेंड्रफ की समस्या दूर होती है।

5  त्वचा के लिए  एलोवेरा –

गर्मियों में बाहर से घर आने के बाद सन बर्न से बचने के लिए एलोवेरा को अपना सकते है।  यह टैन हटाने और स्ट्रैच मार्क कम करने में मददगार होता है।  एलोवेरा के पत्तो के बीच का हिस्सा स्किन पर लगाने लगाते है तो यह आपके चेहरे और स्किन पर होने वाले टैनिंग को भी दूर करता है।

6   वजन कम करने में सहायक –

एलोवेरा हमारे शरीर में पाचन शक्ति को बढ़ाता है।  हमारे शरीर में वजन बढ़ने के कई कारण होते है , परन्तु एलोवेरा में कुछ ऐसी आवश्यक तत्व होते है जो हमारे वजन को कम करने में बहुत सहायक होते है।

7  डायबिटीज के लिए एलोवेरा –

डायबिटीज के मरीजों के लिए एलोवेरा एक औषधीय गुण है।  एलोवेरा का जूस ब्लड शुगर लेवल को कम करता है जिससे डायबिटीज की समस्या कम  होने लगती है और लगातार इस का प्रयोग करने से डायबिटीज की समस्या बिलकुल खत्म हो जाती है।

एलोवेरा से होने वाले नुकसान –

1   एलोवेरा से हो सकती है स्किन एलर्जी –

एलोवेरा जेल के ज्यादा इस्तेमाल से स्किन पर रैशेज , खुजली और रेडनेस हो सकती है , वैसे तो एलोवेरा को स्किन के लिए फायदेमंद माना जाता है , लेकिन ज्यादा इस्तेमाल करने से इसका स्किन पर बुरा प्रभाव पड़ सकता है।

2  शरीर में हो सकती है कमजोरी –

अगर आप किसी बीमारी से राहत पाने के लिए एलोवेरा का सेवन कर रहे है तो यह ध्यान रखना जरूरी है की कहीं हम इसका इस्तेमाल जरूरत से ज्यादा सेवन तो नहीं कर रहे है।  इसके जूस को लगातार सेवन शरीर में पोटेशियम की मात्रा कम कर सकता है।  जिस वजह से दिल की धडकन अनियमित हो सकती है और शरीर में कमजोरी आ सकती है।

3  एलोवेरा में अनकंट्रोल हो सकता है ब्लड प्रेशर लेवल –

एलोवेरा का लगातार सेवन ब्लड प्रेशर को लो कर सकता है।  ये वैसे तो हाई बीपी से परेशान लोगो के लिए अच्छा है , लेकिन ब्लड प्रेशर के परेशान लोगो के लिए यह परेशानी की वजह बन सकता है।

4  प्रेग्नेंट महिलाओं के हानिकारक –

एलोवेरा में मौजूद लेक्टेटिंग प्रॉपर्टी गर्भवती महिलाओं के लिए हानिकारक हो सकती है।  इसके सेवन से उनका गर्भाशय संकुचित हो सकता है।
4 thoughts on “जानिए एलोविरा के फायदे और नुकसान”
  1. इस लेख को बनाने के लिए धन्यवाद, इससे हमें बहुत कुछ सीखा है। यह जानकारीपूर्ण और ज्ञानवर्धक है। इस बीच, यदि आप सर्वोत्तम एलोवेरा के फायदे के बारे में जानने चाहते है तो यहां जाएं। धन्यवाद और आप पर भगवान की कृपा हो!

  2. Need car insurance? Searching for the best car insurance rates? Check out our fast and free service where you can compare top rated car insurance companies. We'll help you find the cheapest car insurance in your area.
    Looking to Save Money on Car Insurance . Car Insurance with Maximum Discounts? Smart Quote lets you compare up to four car insurance companies in one place. Start your quote now and save.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *